टैली में उपयोग होने वाले शब्दों का अर्थ l Business,Goods,Withdrawal,Stock,assets इत्यादि क्या है

हेलो दोस्तों आज की post में आप सब लोग tally  सीखने के लिए आवश्यक शब्दों word जो एकाउंटिंग का मूल मंत्र है उसके बारे में जानेंगे ।  basic accounting यानी जो tally या अकाउंट में आने वाले ऐसे word जिसको आपको जानना अति आवश्यक है । तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं ।  आज का यहां post Basic accounting in hindi को ध्यान से और पूरा पढ़ें दोस्तों क्योंकि यह टैली करने वालों के लिए जनना आवश्यक है ।  दोस्तों आने वाला chapter  का  post  के लास्ट में उसका लिंक दिया जाएगा तो पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढ़ें । 


टैली में उपयोग होने वाले शब्दों का अर्थ l Business,Goods,Withdrawal,Stock,assets इत्यादि क्या है
टैली में उपयोग होने वाले शब्दों का अर्थ l Business,Goods,Withdrawal,Stock,assets इत्यादि क्या है

Business  -  { व्यवसाय } लाभ कमाने के उधेश्य से किया जाने वाला वैद valie व्यवसाय कहलाता है ।  व्यवसाय तत्व में व्यवहार भी सामिल है वस्तुओ का उत्पादन मात्रा कर विक्रय बैंकिंग बीमा आदि कार्य व्यापर { व्यवसाय में सामिल है।  } 


profesion - { पेशा  } पेशा में वहा कार्य किया जाता है जिसके लिए विभिन्न प्रकार के शरीक और मानसिक कार्य की आवश्यकता होता है  । 


उदहारण -  डॉक्टर , वकील ,सी ए ,शिक्षक , आदि है। 


proprietor { स्वामी  } वयवसाय या पैस का मालिक स्वामी कहलाता है।  जो आवश्यक पूंजी लगा कर व्यवसाय प्रारम्भ करता है वह उसे देख रेख तथा लाभ का अधिकार पूरा होता है और हानि का उत्तरदायी होता है । 


capital - [ पूंजी ]   अपने व्यापर प्रारंभ करने से पहले व्यापार का स्वामी जो रोकड़ धन लगता है उसे पूंजी कहलाता है । 


Goods -[ माल ] जो वस्तु [ माल ] लाभ कमाने के उदेश्य  क्रय  विक्रय  किया जाता है उसे हम माल कहते है। 


Withdrawal ( आहरण ) -  अपने निजी उपयोग के लिए जब व्यापार का स्वामी अपने से पूंजी या रोकड़ अपने उपयोग के लिए निकालता है आहरण कहलाता है। 


Cash purchase  ( नगद क्रय ) जब माल की खरीदते समय कीमत चुका दी जाती है तो नगद क्रय कहलाता है। 


Non Cash purchase  ( उधार क्रय ) -  जब माल खरीदते समय कीमत नहीं चुकाई जाती है और भविष्य में देते हैं तो उसे उधार  क्रय कहलाता है । 



Purchase return ( क्रय वापसी )  - दोस्तों खरीदा हुआ माल या खरीदा हुआ ऑर्डर के अनुसार नहीं देने का  और अन्य किसी कारण क्रय किया गया माल  वापसी किया जाता है तो उसे क्रय वापसी कहलाता हैं। 



Sales  ( विक्रय ) -  दोस्तों व्यापार के द्वारा माल बिक जाता है उसे विक्रय कहते हैं विक्रय दो प्रकार के होते हैं। 


Cash sales (  नगद रोकड़)   -  विक्रम जब विक्रय को सौदा करते समय मूल्य प्राप्त हो जाता है तो उसे Cash sales कहलाता है। 



Non cash sales ( उधार विक्रय ) -   जब विक्रम को सौदा करते समय मूल्य प्राप्त ना हो और भविष्य में प्राप्त हो तो उसे Non cash sales  कहते हैं । 


Sales return ( विक्रय वापसी  ) - जिस ग्राहक को बेचा गया  माल यदि खराब निकले  या आदेशानुसार ना होने अर्थात अन्य किसी कारण से वापसी कर देता है तो उसे विक्रय वापसी कहते हैं Sales return कहता है। 


Stock ( स्कंध ) -   जैसे निश्चित तिथि या अवधि को माल बिना बिके ही रह जाता है उसे स्टॉक कहते हैं व्यापारी वर्ष के अंत में लाभ कमाने के अंत में माल के प्रयोजन से Stock की गणना की जाती है उसे अंतिम स्टॉक कहते हैं अगले वर्ष के प्रारंभ में या प्रारंभिक स्टॉक या स्कंध कहलाते हैं। 



Discount ( छूट )  - जैसे कि नाम से ही स्पष्ट हो रहा है कि डिस्काउंट यानी की छूट बेचे गए माल का भुगतान करते समय दुकान द्वारा दी जाने वाली छूट को हम डिस्काउंट कहते हैं। 



Treed discount - व्यापारी पट्टा अधिक से अधिक माल खरीदने हेतु प्रेरित हेतु जो व्यापारी अपने कस्टमर को माल के अंकित मूल्य से कई छूट, अपघात या डिस्काउंट देता है उसे व्यापारी Treed discount कहते हैं। 


Cash discount -  नगद डिस्काउंट उधार बेचे गए माल का शुद्ध भुगतान प्राप्त करने के लिए जो छूट दी जाती है उसे cash नगद रोकर डिस्काउंट कहते हैं। 


Commission - व्यापार के लिए माल खरीदते या भेजने के लिए सहायक करने वाले के लिए जो परिश्रमिक दिया जाता है उसे कमीशन कहते हैं। 


debitors [  देनदार ] - जिस संस्था या व्यक्ति को माल या धनराशी उधार डी जाती है उसे देनदार कहलाता है।  वहा तब तक देनदार कहलाता है जब तक वहा रकम चूका नही देता है। 


Cerditors [ लेनदार ] - जिस व्यक्ति से माल या सेवा , धन राशी  उधार की जाती है उसे creditors कहलाता है। 


bad debits [ डूबत ऋण ] - देनदारो से बकाया रकम या राशी प्राप्त  नही हो पता है उसे डूबत ऋण कहा जाता है । 


[ voucher प्रमाणक ] - व्यापारी लेनदेन को प्रमाणिक करने के लिए जो लिखित पत्र या प्रमाण पत्र होता है उसे voucher कहलाता है । 


assets [ सम्पति ] - व्यापर के संचालन में जो वास्तु आवासक होते है उन्हें सम्पति कहलाती है । 


उदाहरण भवन , कार्यालय , रोकड़ ,फनिचर्स आदि है। 


[ assets दो प्रकार के होते है ]


fixe assets स्थायी सम्पति  उदाहरण  भवन ,टीवी कम्पूटर फैन 

cureent assets    उदाहरण ,रोकड़ , स्टोक, बिल

 

Note - आशा करता हूं कि अकाउंट के मूल बेसिक और अकाउंट और tally का मूल मंत्र जानने में आपको मजा आया होगा और सरल शब्दों में पढ़ने में अच्छा लगा होगा अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा तो आपने dosto और अपने साथियों को इस प्रकार की पोस्ट जरूर शेयर करें .......


Massage (संदेश):  दोस्तों उम्मीद करता हु आपको हमरा यह टैली में उपयोग होने वाले शब्दों का अर्थBusiness,Goods,Withdrawal,Stock,assets इत्यादि क्या है वाला पोस्ट पसंद आया होगा |और यदि आपको हमारे द्वारा दि गई जानकारी ठीक लगी हो और आपको इससे सही जानकारी मिली हो तो आप इसे अपने दोस्तो को जरुर Share करे और इसी तरह के TechNews पढ़ने के लिये हमें जरुर फॉलो करे | हम आप के लिए Technology Fact News And Local News And New Job जैसे सभी जानकारी अपने इस Website -> www.cgdmt.in पर लाते हैं |


Post a Comment

Previous Post Next Post
© 2022-2025 All Rights Reserved By www.cgdmt.in